डी.ए.वी.पी. नीति २०१६ के विरोध में गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह को ज्ञापन देते आॅल इंडिया स्माॅल न्यूज पेपर्स एसोसिएशन (आइसना) के अध्यक्ष शिव शंकर त्रिपाठी


गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह व आल इण्डिया स्माल न्यूज़ पेपर्स एसोसिएशन (आइसना) के अध्यक्ष श्री शिव शंकर त्रिपाठी


निरस्त होगी नयी विग्यापन पालिसी : संतोष गंगवार

आॅल इंडिया स्माॅल न्यूज पेपर्स एसोसिएशन (आइसना) के अध्यक्ष शिव शंकर त्रिपाठी की अध्यच्छता मे एक प्रतिनिधि मंडल ने डी.ए. वी.पी. की 15 जून 2016 की नई पाॅलिसी को निरस्त कराने के लिये भारत सरकार के मंत्री संतोष कुमार गंगवार से उनके मंत्रालय मे मिलकर ग्यापन दिया। श्री त्रिपाठी ने केन्द्रीय मंत्री को अवगत कराया कि नई पाॅलिसी से लघु व मध्यम समाचार पत्रों को होने भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा। मंत्री श्री गंगवार ने आश्वासन दिया कि वह सूचना मंत्री से स्वयं बात कर पाॅलिसी को निरस्त कराने की पूरी कोशिश करेंगे। इसी के साथ केन्द्रीय मंत्री भारत सरकार को भी उनके दिल्ली से बाहर होने के कारण उनके मंत्रालय मे भी ग्यापन दिया। प्रतिनिधि मंडल में आइसना की राष्ट्रीय सचिव आरती त्रिपाठी समेत कई वरिष्ठ पत्रकार उपस्थित थे।


सेवा मे,
माननीय प्रधानमंत्री महोदय,
भारत सरकार,
नई दिल्ली।
महोदय,
आल इण्डिया स्माल न्यूज़ पेपर्स एसोसिएशन, आइसना भारत देश का एकमात्र विशाल संगठन है जिसकी समितियां भारत के सभी प्रदेशों व उनके अधिकांश जिलों मे कार्यरत हैं, जिसे एसोसिएशन की वेबसाइट पर देखा जा सकता है।
मान्यवर, आपके संज्ञान मे लाना है कि भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा दिनांक 15 जून 2016 को डी.ए.वी.पी. की वेबसाइट पर बिना समाचार पत्र प्रकाशकों की सहमति के या सुझाव, विचार-विमर्श के विज्ञापन नीति 2016 को लागू कर दिया गया हम लघु-मध्यम समाचार पत्रों के प्रकाशक व प्रतिनिधि इस नीति का पूर्ण रूप से विरोध करते हैं। यह नियम सिर्फ चन्द बड़े समाचार पत्रों के इशारे पर लागू किया गया है ताकि पूरे देश से लघु-मध्यम समाचार पत्र समाप्त हो जायें। पूरा पढ़ें...

 
आइसना एक क्रान्ति
आल इण्डिया स्माल न्यूजपेपर्स की स्थापना सन 1982 मे की गई थी। लघु एवं मध्‍यम समाचार पत्रो एवं मध्यम समाचार पत्रो के मालिक, सम्पादक व पत्रकारों ने केन्द्र सरकार व राज्य सरकारों के द्वारा देश के लघु व मध्यम समाचार पञो पर किये जा रहे अत्याचार, उत्पीड़न व उपेक्षा से क्षुब्ध होकर आइसना संगठन की स्थापना कराकर एक केन्द्रीय समिति को गठित किया इसके बाद देश के सभी प्रदेशों और सभी प्रदेशों के अधिकाशं जिलों मे आइसना की समितियां गठित की। आप सब भली भांति इन तथ्यों से अवगत हैं कि यही लघु एवं मध्यम समाचार पत्र भारत सरकार व राज्य सरकार की ग्रामीण योजनाओं को सुदूर गांव मे जन-जन तक पहुचाने का कार्य करते हैं और गांधी जी के पंचायती राज सपने को साकार करने मे सतत प्रयासरत हैं फिर भी सरकारों द्वारा समाचार पत्रों को भारतीय संविधान मे प्रदक्त अधिकारों का हनन, स्‍वतंत्रता लेखनी पर रूकावट व समाचार संकलन के अधिकारों का हनन लगातार किया जा रहा है। पूरा पढ़ें...

 
राष्‍ट्रीय प्रतिनिधित्‍व संरक्षक मंडल
श्री भगवत शरण, संरक्षक, अलीगंज, लखनऊ श्री केयूर भूषण, संरक्षक, आइसना, पूर्व सांसद, सूरजनगर, रायपुर, छत्तीसगढ़ राट्रीय कार्यकारिणी श्री शिव शंकर त्रिपाठी, राट्रीय अध्यक्ष एवं कार्यकर्ता संपादक ऊजार् टाइम्स, ३५, ए-ब्लाक, दारूलाफा, लखनऊ. पूरा पढ़ें...
संविधान (नियमावली) पजीकृत संख्या एस-१२४५/८२१
आल इण्डिया स्माल न्यूज पेपर्स एसोसिशन होगा। आगे जो भी एसोसिशन लिखा होगा उससे आल इण्डिया स्माल न्यूज पेपर्स का बोध होगा इसकसंक्षिप्‍त रूप आइसना कहलायेगा । स्माल शब्‍द केवल टाइटिल है स्माल प्रसार संख्या को प्रतिबंधित नही करता है। पूरा पढ़ें...
 
 
 
  © 2016 All India Small Newspapers Association